तो गूगल की तरह कहीं एप्पल भी तो नही सुन रहा हमारी बात

इंटरनेट पर हम कितने सुरक्षित है ये अब जग जाहिर हैजो सिलसिला फेसबुक डेटा लीक से शुरू हुआ था वो एलेक्सा, गूगल सब तक पहुंचा । वही अब एप्पल के एक फॉर्मर कॉन्ट्रैक्टर ने यह खुलासा किया है,एप्पल थर्ड पार्टी कॉन्ट्रेक्टर को सीरी और उपयोगकर्ता के कन्वर्जन को सुनने के लिए पैसे दे रहा है।द गार्जियन की एक नई रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि वर्कर्स ने गलती से उपयोगकर्ताओं की निजी बातचीत सुनी है, जिसमें एप्पल के वॉयस असिस्टेंट सिरी के माध्यम से उपयोगकर्ताओं की निजी बाते ,जैसे-डॉक्टर की अपॉइंटमेंट आदि शामिल थी।

गौरतलब है कि अभी हाल की में अमेज़ॉन वॉइस एआई असिस्टेंट एलेक्सा और गूगल असिस्टेंट के बारे में भी ऐसी ही खबरे आयी थी। जहां कोई और इनके द्माध्यम से यूजर द्वारा किया गया कन्वर्जन सुन रहा था।कॉन्ट्रैक्टर ने द गार्जियन को बताया कि सिरी को दिए गए इंटरैक्शन वास्तव में उन वर्कर्स को भेजे जाते हैं, जिन्हें फैक्टर्स के आधार पर इंटरैक्शन को ग्रेड करने के लिए कहा जाता है। इनमें यह शामिल है कि क्या कोई अनुरोध जानबूझकर किया था या फिर गलती से ट्रिगर किया गया था या यदि सिरी द्वारा दी गई प्रतिक्रिया उपयोगी थी या नहीं।

वही एप्पल ने इस पर गार्जियन को जारी एक बयान में यह स्वीकार करते हुए टिप्पणी की कि ,ये सच है सिरी को भेजी गई रिक्वेस्ट(अनुरोध) के छोटे से हिस्से का प्रयोग सिरी और डिक्टेशन(श्रुतलेख) में सुधार के लिए लिया जाता है।हालांकि इसका यूजर की Apple ID से कोई सम्बन्ध नही हैं।सिरी का विश्लेषण पूर्ण सुरक्षित प्रक्रिया के तहत किया जाता है जोकि एप्पल के सख्त गोपनीय पालन के अंतर्गत ही होता है।एप्पल के तकनीकी दिग्गज ने इस पर बात करते हुए यह भी कहा कि इस पद्धति का उपयोग करके दैनिक गतिविधियों के 1% से कम हिस्सो का ही विश्लेषण किया जाता हैं।

Updated: July 28, 2019 — 8:17 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *